जदयू के बाहुबली MLA पप्पू पाण्डेय, जिन्होंने ह्त्या और रंगदारी के मामलों में काफी नाम कमाया है

बिहार में इन दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के लगातार निशाने पर हैं. कभी बाहुबली विधायकों के कारनामे, तो कभी मुजफ्फरपुर शेल्टर होम, तो कभी पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के शेल्टर होम के संचालक ब्रजेश ठाकुर के साथ संबंधों को लेकर, तो कभी सृजन घोटाले के मुद्दे पर. पर बिहार की राजनीति की कड़वी सच्चाई ये है कि किसी भी राजनीतिक दल को अपनी गन्दगी दिखाई नही पड़ती और राजनीतिक लाभ के लिए अपराध का दामन थामने के लिए किसी भी तरह का संकोच नहीं किया. खुद राजद के बाहुबली विधायक राज्बल्लभ यादव एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के आरोप में कोर्ट द्वारा सजा पाए हुए हैं.

ताजा मामले में बिहार की राजनीति में भूचाल मचा हुआ है जदयू के बाहुबली सांसद पप्पू पाण्डेय को लेकर. गोपालगंज में अपनी दबंगई के कई कारनामे कर गुजरने वाले पप्पू पांड्य पर दर्जनों अपराधिक मामले चल रहे हैं. उनका विवादों से पुराना नाता रहा है. वे पप्पू पांडेय अंतरराज्यीय आपराधिक गिरोह के सरगना सतीश पांडेय के भाई हैं. सतीश पाण्डेय फिलहाल जेल की सलाखों के पीछे हैं.

12वी पास पप्पू पाण्डेय करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं. 2015 में जदयू के टिकट पर विधानसभा पहुंचे. इससे पहले 2010 में बसपा के टिकट पर विधायक बने थे. दो बार अलग अलग दल के टिकट पर विधान सभा पहुंचना इलाके में उनके दबदबे की ओर स्पष्ट इशारा करता है.

2012 की घटना है. गोपालगंज जिला के हथवा प्रखंड मुख्यालय में शराब दुकान चालने वाले अनिल साह की  गोली मारकर हत्या कर दी गयी.  अनिल साह की हत्या के मामले में कुचाईकोट विधानसभा क्षेत्र से जदयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, उनके पिता रामाशीष पांडेय, बहनोई जलेश्वर पांडेय, भाभी एवं पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष उर्मिला पांडेय सहित सात लोगों के खिलाफ स्थानीय थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी. अनिल साह के परिजनों का आरोप था  कि विधायक ने साह से पचास लाख रूपये रंगदारी के तौर पर दिए जाने की मांग की थी और रूपये न मिलने पर शराब दुकान बंद करने को कहा था.

27 मार्च 2012 को ही सरकारी पदाधिकारी जावेद अख्तर की पत्नी ने पप्पू पांडेय पर उनके पति का अपहरण कर उनकी रिहाई के एवज में उनसे 55 लाख रूपये फिरौती के तौर पर वसूल करने का आरोप लगाया था.

ये सिलसिला रुका नहीं. और अब पप्पू पांडेय पर एक कंस्ट्रक्‍शन कंपनी के कार्यकारी निदेशक अखिलेश कुमार जायसवाल से 50 लाख रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में एफआइआर दर्ज करने के लिए पुलिस को आवेदन दिया है.  व्यवसायी के अनुसार, 17 नवंबर को दो अलग- अलग नंबरों से उनके मोबाइल पर कॉल आया.  कॉल करने वाले ने अपना परिचय गोपालगंज विधायक पप्पू पांडेय के चालक पंडित जी के रूप में दिया और कहा कि विधायक जी ने आवास पर बुलाया है. आप उनके मोबाइल पर संपर्क कर लें.

पटना के कोतवाली थाने के नजदीक उदय गिरि अपार्टमेंट के निवासी व साज इंफ्राकॉन प्रोजेक्ट सड़क निर्माण कंपनी के कार्यकारी निदेशक अखिलेश कुमार जायसवाल ने आरोप लगाया है कि विधायक ने उन्‍हें शास्त्री नगर स्थित एमएलए फ्लैट संख्या 81/40 पर बुलाकर गोपालगंज में सड़क निर्माण का काम शुरू करने के एवज में रंगदारी मांगी.
विधायक से मोबाइल नंबर पर संपर्क करने के बाद जायसवाल उनके सरकारी आवास पर पहुंचे.   उनसे कहा गया कि गोपालगंज में सड़क निर्माण का काम करने के बदले 50 लाख रुपये दो वरना जान से हाथ धोना पड़ेगा।
 
जायसवाल ने  कहा कि वे पहले भी पार्टी फंड और रंगदारी के नाम पर विधायक को 20 लाख रुपये दे चुके हैं. अब उन्हें जान का खतरा महसूस हो रहा है.
 इसपर प्रतिक्रिया देते हुए तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट किया:

इससे पहले भाजपा नेता को सरेराह धमकाने का आरोप है:

2018 के अक्टूबर में भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुखिया शिव कुमार उपाध्याय ने जदयू के विधायक अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू पांडेय पर गोलियों से छलनी करने की धमकी देने का आरोप लगाया.  भाजपा नेताओं का आरोप है कि सोमवार की शाम को शिव कुमार उपाध्याय कहीं जा रहे थे, तभी पीछे से जदयू विधायक पप्पू  पांडेय की गाड़ियों  का काफिला पहुंचा और ओवरटेक कर उनकी गाड़ी को रोक दिया गया. पप्पू पांडेय गाड़ी से उतरे और गाली-गलौज करने लगे. साथ ही गोलियों से छलनी कर देने की धमकी भी दी.

सांसद  पप्‍पू यादव ने कहा कि बिहार में कोई काम बिना गुंडा टैक्‍स दिए बिना संभव नहीं है. हम मांग करते हैं कि अविलंब पप्‍पू पांडेय की गिरफ्तारी हो, वरना हम बिहार बंद करेंगे. साथ ही अखिलेश जायसवाल को सरकार सुरक्षा दें, क्‍योंकि हमें उनकी हत्‍या की आशंका है.


[jetpack_subscription_form title="Subscribe to Marginalised.in" subscribe_text=" Enter your email address to subscribe and receive notifications of Latest news updates by email."]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.