मायावती के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर साधना सिंह को राष्ट्रीय महिला आयोग का नोटिस

नयी दिल्ली : राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए भाजपा विधायक साधना सिंह को एक नोटिस भेजा है. आयोग ने यह नोटिस विधायक को बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के बाद भेजा है.


भाजपा विधायक साधना सिंह ने मायावती पर टिप्पणी करते हुए कहा था – जिस दिन महिला का ब्लाउज, पेटीकोट, साड़ी फट जाये, उस दिन वह महिला ना सत्ता के लिए आगे आती है और ना उसका सम्मान बचता है.


उस महिला को पूरा देश कलंकित मानता है, वो तो किन्नर से भी बदतर हैं, क्योंकि वो तो न नर हैं, न महिला हैं.

अपने इस अपमानजनक बयानबाजी पर चौतरफा हमले में जब भाजपा विधायक साधना सिंह घिरती नज़र आयीं, तो उन्होंने आधा अधूरा स्पष्टीकरण देते हुए कहा: “मैंने किसी को अपमानित करने के लिए नहीं बोला था, जो जनता की चर्चा रही वो चर्चा मैंने राखी, एक महिला हूँ, इस नाते मेरे मन में एक बात आई.”

फिलहाल बसपा के राम चन्द्र गौतम ने साधना सिंह के खिलाफ बबुरी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

BJP MLA Sadhna Singh on her statement on BSP chief Mayawati: Meine kisi ko apmaanit karne ke liye nahi bola tha, jo janta ki charcha rahi vo charcha meine rakhi, ek mahila hoon iss naate mere man main ek baat aai.


कौन हैं साधना सिंह?

साधना सिंह शुरू से ही अपनी कार्यशैली और बयानबाजी के चलते विवादों में रही हैं. साधना सिंह चंदौली जिले में मुगलसराय सीट से 2017 में पहली बार भाजपा की टिकट पर विधायक बनीं. इससे पहले वह 1993 जिले में जिला पंचायत सदस्य भी रह चुकी हैं. इसके अलावा साधना सिंह चंदौली जिले की महिला प्रकोष्ठ और व्यापार मंडल के अध्यक्ष का पद संभाल चुकी हैं. यूपी में 2017 के विधानसभा चुनाव के समय एक वीडियो वायरल हुआ। जिसमें साधना सिंह सपाइयों को गालियां देती नजर आ रही हैं. साधना सिंह ने विधायक बनने के छह महीने बाद ही मुगलसराय रेलवे कॉलोनी का निरीक्षण किया. इस दौरान गंदगी देखकर वह बिफर पड़ी और सफाई रखने को लेकर डीआरएम को चेतावनी दे डाली. वहीं उनके समर्थक डीआरएम से भिड़ गए. साधना  सिंह एक तेवर वाली  महिला राजनेता रही हैं. चंदौली जिले में एक बार समीक्षा बैठक के दौरान विधायक साधना सिंह यूपी सरकार में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जयप्रकाश निषाद पर भड़कते हुए कह दिया था कि प्रभारी मंत्री जी, आज के बाद आपकी बैठक में नहीं आऊंगी. इतना ही नहीं, विधायक साधना सिंह ने एक पत्रकार को फोन पर धमकी दी थी. जब धमकी का ऑडियो वायरल हो गया तो विधायक ने पत्रकार को कही बातों पर खेद प्रकट किया. मामले के अनुसार पत्रकार ने हत्या से जुड़ी एक खबर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी थी.


[jetpack_subscription_form title="Subscribe to Marginalised.in" subscribe_text=" Enter your email address to subscribe and receive notifications of Latest news updates by email."]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.