बंगाल की निर्णायक जंग: ममता दीदी ने बीजेपी को शिकस्त देने के लिए 4 अभिनेत्रियों को मैदान में उतारा

बालेन्दुशेखर मंगलमूर्ति 

लोकसभा चुनाव 2019 में बंगाल की जंग निर्णायक होने वाली है. 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर से पूरी तरह अछूता रहने वाला बंगाल इस बार भाजपा के निशाने पर है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा के पिछले परफॉरमेंस से पूरी तरह नाखुश हैं और उन्हें इस बात की समझ है कि उत्तर प्रदेश में पिछली बार का प्रदर्शन दोहराना संभव नहीं है, खासकर जब बसपा और सपा इस बार साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है और कांग्रेस के भी साथ आने की संभावना है. ऐसे में काफी लम्बे समय से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बंगाल के दौरे पर जा रहे हैं. पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर तैयारी करने के निर्देश दिए जा रहे हैं. भाजपा की आई टी टीम भी सक्रिय है. जुलाई 2017 में बशीरहाट में दंगे फैले थे. उस दौरान सोशल मीडिया पर काफी फेक न्यूज़ और तस्वीरें फैलाई जा रही थीं. उनमे एक तस्वीर काफी फेमस हुई थी जिसमे एक महिला की साड़ी सरेआम खिंची जा रही थी और सोशल मीडिया में हिन्दुओं की तथाकथित दुर्गति की बात की जा रही थी. पर हकीक़त में वो तस्वीर एक भोजपुरी फिल्म की थी. प्रदेश में वोटों के ध्रुवीकरण का प्रयास तेजी से चल रहा है. बंगाल के बंगलादेश के साथ सटे होने के कारण आव्रजन एक बहुत बड़ा मुद्दा है बंगाल की राजनीति में.

पिछले कुछ समय में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा विरोध के केंद्र के रूप में उभरी हैं. राजनीतिक विश्लेषक इसे उनकी थर्ड फ्रंट के नेतृत्व की महत्वाकांक्षा से जोर रहे हैं. वे विभिन्न मुद्दों पर भाजपा से लगातार टक्कर ले रही हैं.

फिलहाल उन्होंने पश्चिम बंगाल की सभी 42 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है. इस सूची में जहां कुछ पुराने नाम शामिल नहीं हैं, वही कुछ नए नामों को जोड़ा गया है. सबसे रोचक है 2019 के लोकसभा चुनाव में 17 महिला उम्मीदवारों को मौक़ा दिया जा रहा है, कुल 41`प्रतिशत उम्मीदवार महिला हैं. इनमे चार उम्मीदवार फिल्म अभिनेत्रियाँ हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में ममता ने 12 महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था.

सूची में सात उम्मीदवार मुस्लिम समुदाय से हैं और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के 12 उम्मीदवार हैं. 2014 के चुनाव में पश्चिम बंगाल में कुल 42 सीटों में तृणमूल कांग्रेस ने 34 सीटें जीती थी. ममता ने 10 मौजूदा सांसदों का नाम काटा है.

चार अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती, नुसरत जहां, शताब्दी रॉय और मुनमुन सेन को पार्टी ने टिकट दिया है. नुसरत जहां बशीरहाट लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी.

मशहूर अभिनेत्री मुनमुन सेन को टीएमसी ने आसनसोल से टिकट दिया है. इस सीट से बीजेपी नेता और सिंगर बाबुल सुप्रियो सांसद हैं.

टीएमसी ने अभिनेत्री शताब्दी रॉय को बीरभूम से उम्मीदवार बनाया है. शताब्दी 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में बीरभूम सीट से सांसद चुनी गई थी. शताब्दी रॉय ने 1986 में बंगाली फिल्म आतंक से करियर की शुरुआत की थी.

अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती को टीएमसी ने जादवपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है. उन्होंने साल 2008 में चैंपियन सीरियल से टीवी इंडस्ट्री में कदम रखा था. उन्हें गानेर ओपेरे से शोहरत मिली.

पश्चिम बंगाल में कब है चुनाव?
पहला चरण, 11 अप्रैल- कूचबिहार, अलीपुरद्वार.
दूसरा चरण, 18 अप्रैल- जलपाईगुड़ी, दार्जीलिंग, रायगंज.
तीसरा चरण, 23 अप्रैल- बालूरघाट, माल्दा उत्तर, माल्दा दक्षिण, जंगीपुर, मुर्शीदाबाद.
चौथा चरण, 29 अप्रैल- बहरामपुर, कृष्णानगर, राणाघाट, बर्धमान पूर्व, बर्धमान दुर्गापुर, आसनसोल, बोलपुर, बीरभूम.
पांचवां चरण, 6 मई- बाणगांव, बैरकपुर, हावड़ा, उलूबेरिया, श्रीरामपुर, हूगली, आरामबाग़.
छठा चरण, 12 मई- तामलुक, कांठी, घाटल, झारग्राम, मेदिनीपुर, पुरुलिया, बाँकुरा, बिष्णुपुर.
सातवां चरण, 19 मई- दमदम, बरसात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जादवपुर, कोलकाता दक्षिण, कोलकाता उत्तर.

ममता बनर्जी ने सोची समझी रणनीति के तहत बांग्‍लादेश की सीमा से सटे बशीरहाट सीट से टॉलिवुड स्‍टार नुसरत जहां को मैदान में उतारा है. पार्क स्‍ट्रीट रेप केस में विवादों में रहने वाली बंगाली फिल्‍म स्‍टार नुसरत जहां के जरिए ममता ने युवाओं और अल्‍पसंख्‍यकों को अपने पाले में लाने की कोशिश की है. नुसरत जहां इन दिनों बंगाली फिल्‍म इंडस्‍ट्री में एक बेहद लोकप्रिय चेहरा हैं. कोलकाता की रहने वाली नुसरत जहां ने अपने छोटे से फिल्‍मी करियर में कई टॉप स्‍टार के साथ काम किया है. पेशे से मॉडल रह चुकी नुसरत जहां ने वर्ष 2011 में अपने करियर की शुरुआत जीत फिल्‍म से की थी.

नुसरत जहां के सोशल मीडिया पर लाखों फॉलोवर हैं.  दुर्गा पूजा पर बधाई देने पर कुछ समय पहले कट्टरपंथियों ने उन्‍हें ट्रोल किया था. वह राज्‍य सरकार की ओर से आयोजित होने वाले सभी सांस्‍कृतिक और राजनीतिक कार्यक्रमों में हिस्‍सा लेती रही हैं.

पार्क स्‍ट्रीट रेप कांड में आया नाम 
नुसरत जहां पार्क स्‍ट्रीट रेप कांड को लेकर काफी विवादों में रह चुकी हैं. इस रेप कांड के मुख्‍य आरोपी कादर खान की लंबे समय तक गर्लफ्रेंड रह चुकी नुसरत जहां का नाम चार्जशीट में नहीं आया था. बताया जा रहा है कि एक ऐंग्‍लो इंडियन महिला के साथ वर्ष 6 फरवरी, 2012 को पार्क स्‍ट्रीट पर चलती कार में रेप के बाद कादर खान को अरेस्‍ट कर लिया गया था. कादर और नुसरत एक-दूसरे से निकाह भी करने वाले थे. पुलिस ने नुसरत के साथ पूछताछ भी की थी. पुलिस पूछताछ में नुसरत जहां ने कहा था कि वह कादर खान से नहीं मिली थीं लेकिन रेप कांड की जांच में खुलासा हुआ कि दोनों ने मुंबई में एक कमरा बुक किया था. इसके बाद नुसरत कोलकाता लौट आईं और कादर खान के लिए पटना के टिकट की व्‍यवस्‍था की. इस खुलासे के बाद कई वकीलों ने मांग की थी कि दोषी को संरक्षण देने के आरोप में नुसरत को गिरफ्तार किया जाए.


[jetpack_subscription_form title="Subscribe to Marginalised.in" subscribe_text=" Enter your email address to subscribe and receive notifications of Latest news updates by email."]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.