नक्सलबारी आन्दोलन: चारु मजुमदार मिथक बन गये, पर जंगल संथाल भुला दिए गये

चारू मजुमदार 1972 में पुलिस कस्टडी में मर गये, जंगल संथाल 1988 में अत्यधिक शराब पीने के चलते प्राण गंवा

Read more