जब रफ़ी साहब ने लंदन में अपने फैन की ख़ुशी के लिए टैक्सी में एक गीत गुनगुनाया…

Balendushekhar Mangalmurty ” आप इतने नरम और सॉफ्ट स्पोकन हैं, फिर माइक के सामने इतना बुलंद कैसे हो जाते हो?”

Read more