सुसमन फिल्म (1987): औद्योगीकरण के चलते हथकरघा बुनकरों की दुर्दशा बयां करती फिल्म

Balendushekhar Mangalmurty 1987 में श्याम बेनेगल ने आँध्रप्रदेश के पोचमपल्ली जिले के हथकरघा कारीगरों पर एक फिल्म बनायी थी, फिल्म

Read more

बेनेगल की सबसे बेहतरीन फिल्मों में एक “सूरज का सातवां घोड़ा” (1992)

Balendushekhar Mangalmurty आज़ादी के बाद के हिंदी साहित्य के इतिहास में धर्मवीर भारती की रचना “सूरज का सातवां घोड़ा” अपने

Read more

गुजरात की दुग्ध क्रांति पर आधारित श्याम बेनेगल की फिल्म “मंथन”(1976)

Balendushekhar Mangalmurty मंथन श्याम बेनेगल की चौथी फिल्म है. इससे पहले वे अंकुर,चरणदास चोर और निशांत फ़िल्में बना चुके थे

Read more

1950 के दशक में पश्चिम भारत में चले स्वाध्याय मूवमेंट पर आधारित बेनेगल की फिल्म “अंतरनाद” (1991)

Balendushekhar Mangalmurty श्याम बेनेगल ने आंदोलनों पर फ़िल्में बनायी हैं. उन्होंने 1976 में गुजरात के खेड़ा जिले में अमूल के

Read more

श्याम बेनेगल की एक यादगार फिल्म “त्रिकाल” (1985)

Balendushekhar Mangalmurty त्रिकाल श्याम बेनेगल ने 1985 में बनायी थी. श्याम बेनेगल के फोटोग्राफर हुआ करते थे गोविन्द निहलानी, पर

Read more

“मम्मो” (1994) को श्याम बेनेगल की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में शुमार किया जाता है

Balendushekhar Mangalmurty देश का विभाजन राजनीतिक मसला तो था ही, पर ये एक मानवीय त्रासदी भी रहा है. इस विषय

Read more

पितृसत्तात्मक समाज की मान्यताओं को चुनौती देती हुई ठुमरी गायिका के जीवन की दास्ताँ है फिल्म “सरदारी बेगम”

Balendushekhar Mangalmurty 1996 में श्याम बेनेगल ने फिल्म बनायी थी, “सरदारी बेगम”. फिल्म एक ठुमरी गायिका की दास्ताँ है, जो कभी

Read more

बंगाल के नक्सलबाड़ी आंदोलन की पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म “आरोहण”(1982)

Balendushekhar Mangalmurty पश्चिम बंगाल के नक्सलबारी आंदोलन की पृष्ठभूमि पर श्याम बेनेगल ने एक फिल्म बनायी थी, “आरोहण”. इस फिल्म

Read more

आधुनिक दौर के सन्दर्भ में महाभारत की व्याख्या ‘कलयुग’ को इंडियन सिनेमा का नायाब क्लासिक बनाती है

Balendushekhar Mangalmurty 1981 में रिलीज़ हुई फिल्म “कलयुग” इंडियन सिनेमा की एक माइलस्टोन फिल्म है. इंडियन सिनेमा में उपलब्ध टैलेंट

Read more