#HappyBirthday:रोमांस के बेताज बादशाह शाहरुख़, विवादों ने भी जिनसे बेहद प्यार किया है

आज बॉलीवुड के किंग खान का जन्मदिन है. पर किंग खान हमेशा किंग खान नहीं थे. उन्होंने इसके लिए मेहनत की है, अपना इंटेलीजेंट ब्रेन इस्तेमाल किया है, अपनी प्रतिभा का जमकर इस्तेमाल किया है और सही नेटवर्किंग की है. 90 के दशक में जब वे आये थे, तो बॉलीवुड हिंसक फिल्मों के दौर से निकल रहा था. म्यूजिकल फ़िल्में शुरू हो गयी थीं, पर बॉलीवुड के पास बिकने वाला स्टार नहीं था. ऐसा कोई नहीं था जिसके नाम पर फ़िल्में चल जातीं. उनके कुछ पहले आमिर और सलमान ने फिल्मों में कदम रखा था. पर हकला कर बोलने वाले शाहरुख खान में एक ख़ास बात थी. वे किसी सिफारिश के बलबूते नहीं आये थे, उनका बॉलीवुड में कोई गॉडफादर नहीं था. उनके रिकमेन्डेशन के नाम पर सिर्फ उनका टैलेंट था. पर शाहरुख़ ने भाई भतीजावाद से भरे बॉलीवुड में गिलास सीलिंग को तोड़ा, बल्कि अगले पचीस सालों में ऐसा मकाम हासिल किया कि वे सुपरस्टार, बिजनेसमैन, निर्माता, बॉलीवुड के बेस्ट प्रवक्ता- कई रूपों में जाने जाने लगे. उनकी देखा देखी अन्य टैलेंटेड एक्टर्स ने भी हौसला दिखाया और फिर बॉलीवुड में  मनोज वाजपेयी, इरफ़ान खान, नवाज़ुद्दीन जैसे बाहरी लोग अपनी जगह बना सके. इतना ही नहीं, बॉलीवुड को ओवरसीज मार्किट उपलब्ध करवाया, अपनी पर्सनालिटी के बलबूते फिल्म के सब्जेक्ट मैटर को प्रभावित किया. फ़िल्में गावों से निकल कर महानगरों और विदेशों में चली गयी. फ़िल्में अब क्रूड न रह कर स्लिक हो गयीं. ये है किंग खान का रूतबा !!

शाहरुख़ के जन्मदिन पर अगर गौरी खान की बात न की जाए, तो बात कुछ अधूरी रह जायेगी. शाहरुख़ के संघर्ष में वे चट्टान की तरह साथ रहीं, हर कदम पर हौसला बढ़ाया, दाम्पत्य जीवन में कुछ दिक्कतें भी आयीं, पर सबसे निपटीं और इतना ही नहीं, अपनी खुद की पहचान बनायी. गौरी की खास बात ये है कि शाहरुख की पत्नी होने के बावजूद उन्होंने कभी शाहरुख का नाम यूज नहीं किया और अपनी मेहनत से अपनी एक अलग पहचान बनाई है. गौरी बतौर प्रोड्यूसर और इंटीरियर डिजाइनर मशहूर हैं.

ऐसे हुई पहली मुलाकात

दिल्ली में पले बढ़ें शाहरुख ने गौरी को 1984 में एक पार्टी में देखा था. गौरी को देखते ही शाहरुख को उनसे प्यार हो गया था. शुरू में शाहरुख काफी शर्मीले थे और वो गौरी से कुछ कह न सके, लेकिन फिर वो हर उस पार्टी में जाते जहां गौरी के आने की उम्मीद होती थी. उसके बाद शाहरुख ने हिम्मत जुटाकर गौरी का फोन नंबर लिया लिया और फिर दोनों की बातचीत शुरू हो गई. एक इंटरव्यू के दौरान शाहरुख ने बताया था कि शुरुआत में गौरी को इंप्रेस करने के लिए वो गौरी तेरा गांव बड़ा प्यारा सॉन्ग बहुत गाते थे. पंजाबी हिन्दू रीति से शाहरुख और गौरी की शादी मुकम्मल हुई.

शाहरुख के पत्नी-प्रेम की मिसालें दी जाती हैं. इस मान्यता के साथ कई हास्यास्पद चर्चाएँ भी जुड़ी हैं. मसलन एक जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार ने टीवी पर उनसे पूछा कि क्या वे उभयलिंगी हैं? आखिर हीरोइनों के साथ उनके रोमांस के किस्से क्यों नहीं सामने आते? कहा यह भी जाता है कि शाहरुख अपनी बीवी से बहुत डरते हैं.  इंडस्ट्री में यहाँ तक मजाक था कि गौरी अगर शाहरुख को स्कूल यूनिफॉर्म पहनाकर शूटिंग पर भेजें तो वे उसके लिए भी राजी हो जाएँगे. दूसरी ओर तेज नजर समीक्षकों का कहना है कि शाहरुख पत्नी-प्रेम का दिखावा सिर्फ मार्केटिंग के लिहाज से करते हैं ताकि उनकी परदे की छबि साफ-सुथरी बनी रहे.
छोटा प्यारा परिवार:
शाहरुख ने गौरी से 25 अक्टूबर, 1991 को शादी की थी. जोड़ी के बड़े बेटे आर्यन का जन्म 1997 में हुआ. 2000 में शाहरुख-गौरी ने बेटी सुहाना का स्वागत किया. शाहरुख ने जुलाई 2013 में सरोगेसी के जरिए बेटे अबराम के पैदा होने की घोषणा की थी. गौरी के साथ अपने रिश्ते के बारे में शाहरुख कहते हैं कि दोनों बिलकुल अलग हैं. वहीं गौरी ने कई बार यह बात स्वीकार की है कि शाहरुख पहले और इकलौते लड़के हैं जिनसे उन्होंने प्यार किया है. इन 27  सालों में जिंदगी के हर उतार-चढ़ाव में दोनों साथ खड़े नजर आए.
विवादों के साथ भी चोली दामन का सम्बन्ध रहा है: 
अब बॉलीवुड के किंग खान हों, 24 घंटे मीडिया लाइमलाइट में हों और विवाद न हो, ऐसा कैसे हो सकता है, तो कह सकते हैं कि विवादों ने भी किंग खान को बेहद प्यार किया है.
देश में ‌असहिष्‍णुता पर बयान के बाद शाहरुख विवादों में घिरे. शाहरुख ने एक सवाल के जवाब में कहा था  कि देश की असहिष्‍णुता बढ़ रही है. इसके बाद बयानबाजियों का दौर चल पड़ा। भाजपा नेताओं ने उन्हें पाकिस्तान का एजेंट तक बता डाला. ईस पर टिप्पणी करते हुए लश्कर के आतंकी हाफिज सईद ने उन्हें पाकिस्तान आने का न्यौता तक दे दिया ताकि वो सुकून से जिंदगी बिता सकें.
आईपीएल टीम केकेआर के सह-मालिक शाहरुख ने आईपीएल के तीसरे सीज़न के समय कहा था कि वो लीग में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खिलाने के पक्ष में हैं. इस बात पर शिवसेना ने उनकी फिल्म ‘माय नेम इज खान’ की रिलीज़ रोकने की धमकी दी थी. इस पर शाहरुख को ट्विटर पर सफाई देनी पड़ी.
आईपीएल मैचों के दौरान ही मुंबई क्रिकेट असोसिएशन ने पुलिस से वानखेड़े स्टेडियम में शाहरुख के दुर्व्यवहार की आधिकारिक शिकायत की थी. साथ ही एमसीए ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश पर भी पाबंदी लगा दी थी.
शाहरुख फराह खान के पति शिरिष कुंदिर को एक पार्टी में थप्पड़ जड़ चुके हैं. अब किंग खान के साथ शिरीष कुंदर कितने दिन झगड़ा करने की हिम्मत कर सकते थे, तो साजिद खान और साजिद नाडियादवाला शाहरुख के घर ‘मन्नत’ पहुंचे और सुलह करवाई.
2009 में शाहरूख खान को ‘खान’ नाम की वजह से न्यू जर्सी के न्यूयॉर्क हवाई अड्डे पर दो घंटे रोके रखा गया.  उस समय शाहरुख दक्षिण एशियाइयों के एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जा रहे थे. काफी हंगामा हुआ. अंततः राजनीतिक हस्तक्षेप के बाद शाहरुख को छोड़ दिया गया.
शाहरुख खान और उनकी पत्नी गौरी खान तीसरा बच्चा प्लान कर रहें थे, तो उस दरमियां खबरें उड़ी कि शाहरुख गर्भ में लिंग जांच करवाने के लिए गए थे हालांकि किंग खान ने इस बात को सिरे से नकार दिया था.
पूर्व क्रिकेटर सुनील गवास्कर और शाहरूख खान के बीच भी कड़ी जुबानी जंग हुई थी. 2009 में एक अखबार में गवास्कर ने शाहरुख की टीम केकेआर के तत्कालीन कोच जॉन बुचानन को ‘विफल’ खिलाड़ी करार देते हुए कहा कि वो अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को वो करने को कहते हैं, जो वो खुद कभी नहीं कर सके. इसे भी किंग खान ने हलके में नहीं लिया.
संगीतकार और गायक अभिजीत भट्टाचार्य तो वैसे खुद ही विवादित हस्ती हैं, लेकिन उन्होंने शाहरुख पर इल्जाम लगाया कि बादशाह खान ने ‘मैं हूं न’ और ‘ओम शांति ओम’ के लिए उन्हें उचित श्रेय नहीं दिया. इस पर शाहरुख ने चुटकी लेते हुए कहा कि बड़ा ही अजीब संयोग है जो भी उनके साथ काम नहीं करता वो मशहूर हो जाता है. कभी शाहरुख़ की आवाज अभिजीत ने फिर शाहरुख़ के लिए गाने नहीं गाये. हालांकि बॉलीवुड में आम राय यही थी कि शाहरुख़ के लिए अभिजीत से बेहतर प्लेबैक किसी ने नहीं दिया. पर दोनों के बीच प्रोफेशनल रिश्ते सुधर नहीं सके.
शाहरुख खान पब्लिक जगहों पर कई बार सिगरेट पीते हुए देखे गए हैं, हालाँकि पब्लिक प्लेस में सिगरेट पीने पर रोक है.  जयपुर के सवाई मान सिंह स्टेडियम में सिगरेट पीने पर शाहरुख के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी. इसके अलावा वो 2011 के स्टार स्क्रीन अवार्ड्स में भी सिगरेट पीते हुए देखे गए.
बॉलीवुड के तीन शीर्ष खानों के बीच वार जगजाहिर है, हालाँकि कई बार वे इसे छुपाने का प्रयास करते हैं. खान वार में शाहरुख का पंगा आमिर खान से भी हुआ जब आमिर ने रियलटी शोज होस्ट करने वाले सभी अभिनेताओं की तारीफ की मगर शाहरुख को टाल गए. इसके अलावा अपने कुत्ते का नाम शाहरुख रख कर आमिर ने विवाद को और बढ़ा दिया.
सलमान और शाहरुख़ के बीच भी गर्मागर्मी कम नहीं हुई. दोनों ने हालाँकि कारण अर्जुन, कुछ कुछ होता है जैसी फिल्मों में साथ काम किया था. पर अब ऐसा संभव नहीं लगता. सलमान कहते हैं कि वो और शाहरुख अब फिर कभी दोस्त नहीं बन सकते. दोनों का विवाद शुरू हुआ था कैटरीना कैफ की जन्मदिन पार्टी में शाहरुख ने तथाकथित तौर पर सलमान की एक्स-गर्लफ्रेंड ऐश्वर्या राय बच्चन को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी.
डॉन 2 की शूटिंग के दौरान प्रियंका चोपड़ा और शाहरुख़ खान एक दुसरे के करीब आये. गॉसिप कॉलम में काफी कुछ लिखा गया. गौरी खान नाराज हुईं, शाहरुख़ के शक्तिशाली दोस्तों ने प्रियंका चोपड़ा से किनारा करना शुरू किया. ऐसे में लगा कि शायद पिग्गी चोप्स का करियर न ख़त्म हो जाए. पर फिर प्रियंका चोपड़ा अपने हॉलीवुड असाइनमेंट में बिजी हुईं और शाहरुख़ की भी घर वापसी हुई.

[jetpack_subscription_form title="Subscribe to Marginalised.in" subscribe_text=" Enter your email address to subscribe and receive notifications of Latest news updates by email."]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.